top of page
  • Aabhushan Times

आभूषण टाइम्स का 17वां साल,एंटीक ज्वेलरी और मार्केट लीडर्स










आभूषण टाइम्स का यह अंक अपने साथ आपको तथा हमारे सभी पाठकों को अपने 17वें वर्ष में लेकर जा रहा है। लगातार 16 वर्ष तक ज्वेलरी इंडस्ट्री में नवीनतम समाचारों के सबसे विश्वसनीय स्रोत के रूप में लोकप्रिय आभूषण टाइम्स के 16 साल पूरे हो गएष इन वर्षों में हमने रिटेल ज्वेलर्स, होलसेल ज्वेलरी विक्रेताओं और निर्मार्ताओं को ज्वेलरी इंडस्ट्री के नवीनतम समाचारों, मार्केट के रुझानों, रिटेल बिक्री की सर्वोत्तम प्रथाओं, मार्केटिंग और सेल्स की नई नई युक्तियों, इंडस्ट्री की  घटनाओं और इसके अलावा ज्वेलरी निर्माण उद्योग व बुलियन बिजनेस की हस्तिओं की जिंदगी सहित बाजार के बारे में बहुत कुछ नया अवगत कराते रहे और आपने हमारी हर बात पर भरोसा किया, यह सबसे बड़ी खुशी की बात है। ज्वेलरी इंडस्ट्री की सबसे आग्रणी तथा वास्तव में नंबर -1 पत्रिका आभूषण टाइम्स का यह अंक आपको बाजार की अग्रणी हस्ती कांतिलाल पी शाह तथा कुछ खास ज्वेलर्स के व्यापारिक सफर की कहानी सुनाने आ रहा है, तो साथ में ज्वेलरी इंडस्ट्री में एंटीक ज्वेलरी के नए नए ट्रेंड्स, उसके निर्माताओं तथा उनके क्रियेशंस के बारे में विभिन्न प्रकार की सामग्री से भरा हुआ मिल रहा है। इसके साथ ही आभूषण टाइम्स के इस अंक में आपको पढऩे को मिलेगा कि भले ही दुनिया के विभिन्न देशों की अर्थव्यवस्था में कहीं कमजोरी तो कहीं तेजी का तूफान जोरों पर है, लेकिन दुनिया के किसी भी देश की अर्थव्यवस्था को उसका गोल्ड का हिस्सा ही उसकी मजबूती का वास्तविक आधार बना हुआ है, तो आपको आईआईजेएस से जुड़ी कुछ बातें भी बताने आ रहा है।


आभूषण टाइम्स का 17वें साल का यह पहला अंक आपके तथा हम सबके लिए एक ऐसा विशेषांक है, जिसमें सबके लिए कुछ खास सामग्री उपलब्ध है। समय समय पर हम मार्केट लीडर्स के बारे में विस्तार से जानकारी देते रहे हैं। इस अंक में हम देश की विख्यात ज्वेलरी कंपनी अंसा ज्वेलर्स और उसके संस्थापक कांतिलाल शाह की सफलतम व्यापारिक यात्रा के बारे में कुछ खास जानकारी लेकर आए हैं, जिसे पढक़र आपको लगेगा कि सफलता का रास्ता न केवल मुश्किलों से भरा होता है बल्कि बहुत तकलीफदेह भी होता है, जिससे पार पाकर ही आगे बढऩा होता है। कांतिलाल पी शाह सहित कुछ और नामी - गिरामी ज्वेलर्स के बारे में भी इसमें खास सामग्री है, जो आपको जीवन में संघर्ष करने तथा संघर्ष पर सफलता प्राप्त करने की प्रेरणा देंगे। इसके साथ ही इस अंक में आपको पढऩे को मिलेगा कि किस तरह से वैश्विक स्तर पर भारत की अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए भारत सरकार नए प्रयास कर रही है तथा उन प्रयासों से आने वाले कुछ वर्षों में देश में ज्वेलरी बिजनेस में किस तरह से 3 से 4 गुना की ग्रोथ होने ही वाली है। आपको समझना होगा कि विकास के रास्ते जब खुलते हं, तो उस पर चलने के लिए ईमानदार होना पड़ता है, तभी आगे बढ़ सकते हैं, अत: आने वाले वकर्त में गोल्ड का बिजनेस 1 नंबर में होना सबसे अहम जरूरी है। 


आभूषण टाइम्स के इस अंक में खास तौर से आपको यह भी पढऩे को मिलेगा कि किस तरह से हमारे देश में एंटीक ज्वेलरी का कारोबार तेजी पकड़ता जा रहा है। हमने इस पर खास मेहनत करके एक स्टोरी तैयार की है, जिसमें तथ्यात्मक तथा शोधपूर्ण तरीके से परंपरागत ज्वेलरी के बाजार की स्थिति से अवगत कराया गया है। वैसे तो, बहुत पुरानी ज्वेलरी को एंटीक ज्वेलरी कहा जाता है। लेकिन ज्वेलरी के 100 साल से भी ज्यादा पुराने डिजाइंस की तरह बनी ज्वेलरी आजकल बहुत डीमांड में है, जिसे एंटीक ज्वेलरी कहते हैं। कुछ साल पहले तक ज्यादातर महिलाएं जहां गोल्ड की सामान्य ज्वेलरी को अधिक पसंद करती थी वहीं आजकल महिलाओं को एंटीक ज्वेलरी भा रही है, भले ही यह महंगी होती है, वजनदार भी होती है तथा कलात्मकता भी खूब होती है, जिससे उनकी कीमतें ज्यादा होती है, लेकिन महिलाएं पसंद करती है, तो बनाने वाले भी बाजार में बढ़ रहे हैं। इसी पर इस बार के आभूषण टाइम्स में खास सामग्री लेकर 17वें साल का यह पहला अंक आपके हाथों में पहुंचा है। इसके आगे के पन्नों पर आप पढ़ेंगे कि कैसे कई तरह की परेशानी भरे हालातों से संघर्ष करता हुआ आभूषण टाइम्स देश के ज्वेलरी मार्केट की सबसे अग्रणी पत्रिका बनने में सफल रहा।


ज्वेलर्स और ज्वेलरी के व्यापार दोनों को नवीनतम व्यावसायिक समाचार और बाजार के ताजा रुझान  देने का हमारा  मिशन 17वैं साल में भी जारी रहेगा। 16 साल के इस दौर में आभूषण टाइम्स प्रिंट के साथ साथ डिजिटल स्वरूप में भी आप तक तत्काल पहुंचता है। यह खुशी की बात है कि हम परंपरागत स्वरूप के साथ साथ नई नई तकनीक को आपनाते हुए डिजीटल दौर में बी आपका साथ निभाने में सफल रहे हैं। दुनिया भर से नवीनतम जानकारी हमारी वेबसाइट पर भी बाजार की सभी प्रकार की खबरें पेश है। 16 साल के सफलतम सफर पर आपकी शुभकामनाएं सदा साथ रही, हम अपने व्यवसाय के साथ लगातार नई दिशाएँ लेते रहे हैं और एक सुविज्ञ दृष्टिकोण के साथ बाजार के मूल सिद्धांतों का साथ देते रहेंगे, यही 17वें साल में आपसे वादा है।


For more Updates Do follow us on Social Media

Facebook Page-https://www.facebook.com/aabhushantimes

Instagram Page-https://www.instagram.com/aabhushantimes

Opmerkingen


Top Stories

bottom of page