top of page
  • Aabhushan Times

सफलता के 16 साल आभूषण टाइम्स अब 17वें पायदान पर























यह बात तो आप अच्छी तरह से जानते ही है कि आभूषण टाइम्स ज्वेलरी इंडस्ट्री का एक सबसे लोकप्रिय तथा प्रमुख प्रकाशन है, जो पिछले लगातार 16 साल से प्रकाशित होता हुआ ज्वेलरी इंडस्ट्री की शान बढ़ाता हुआ अपना परचम लहरा रहा है। हमारा ज्वेलरी जगत देश की अर्थव्यवस्था में योगदान देने वाला सबसे बड़ा सेक्टर है तथा जीडीपी में  7 प्रतिशत योगदान दे रहा है, जिसके आगे बढऩे की संभावना है। ऐसे महत्वपूर्ण सेक्टर की सबसे महत्वपूर्ण पत्रिका आभूषण टाइम्स अब 17वें वर्ष में प्रवेश करने जा रही है। हम देखते हैं कि ज्वेलरी की यह सबसे जानी मानी तथा प्रमुख पत्रिका मुंबई ही नहीं देश के लगभग सभी महत्वपूर्ण शहरों में समान रूप से लोकप्रिय है तथा ज्वेलरी की उत्कृष्ट डिज़ाइनों को चित्रित करने के साथ बाजार की गतिविधियों को आप तक पहुंचाने तथा सरकारी नीतियों व नियमों के मुताबिक बाजार को समृद्ध बनाने में सहयोग करने की दिशा में सब के लिए समर्पित है।


आभूषण टाइम्स का यह जो अंक आपके कर कमलों में हैं, इसके साथ ही अपने प्रकाशन के 17वें वर्ष में प्रवेश करने वाली यह पत्रिका अपनी शुरूआत से ही विशेष तौर से ज्वेलरी व्यवसायी समाज तथा ज्वेलर्स के प्रमुख विषयों के बारे में सबसे ज्यादा गहन, सारगर्भित एवं स्पष्ट जानकारी देती रही है।  हमें खुशी होती है जब आभूषण टाइम्स की प्रशंसा करते हुए कई ज्वेलर कहते हैं कि केवल इसी पत्रिका में उन्हें बाजार को समझने तथा ज्वेलरी केस्टर की गतिविधियों की सच्ची खबरें मिलती हैं। हमें खुशी होती है, जब कोई हमें कहता है कि आभूषण टाइम्स के साथ साथ ज्वेलरी सेक्टर में विभिन्न पत्र - पत्रिकाएं प्रकाशित होती है, मगर उन सबके बीच तुलनात्मक अध्ययन किया जाए, तो आभूषण टाइम्स हमारे सबसे बड़े हितैषी के रूप में प्रकाशित हो रहा है। आभूषण टाइम्स किसी भी अन्य पत्रिका से चार कदम आगे बढक़र हमारे व्यापारिक जगत की घटनाओं, गोल्ड बिजनेस तथा ज्वेलरी के व्य़ापार के विकास तथा हमारे बाजार के बारे में बताते हुए हमें यह सूचित करता है कि हमें भी अपने व्यापार के विकास के नए नए तरीके अपनाकर स्वयं के व्यापार को विकसित करना चाहिए। पिछले 16 साल में हमने कई अवसरों पर आभूषण टाइम्स के जरिए बाजार को महत्वपूर्ण विषयों पर अपना मत बनाने के मामले में भी मदद की तो विभिन्न आंदोलनों, आयोजनों तथा ज्वेलरी के शिल्प कौशल का जश्न मनाने के लिए प्रेरणा का खजाना बनने की कोशिश भी की है। 16 साल का ये समय कैसे आसानी से निकल गया, यहमें पता ही नहीं चला, लेकिन यह जरूर समझ में आया कि हमारा काम हमें आपसे जोड़े रखने में सदा मदद करता रहा।


आज 17वें साल में प्रवेश करते समय हम गर्व के साथ कह सकते हैं कि आभूषण टाइम्स, भारतीय ज्वेलरी सेक्टर में हिंदी की नंबर 1 ज्वेलरी पत्रिका है, जो, ज्वेलरी उद्योग और व्यापार पर प्रमुख प्रकाशनों के बीच एक लीडर के रूप में उभरने के लिए भव्य ताकत के साथ आपकी सेवा में पसदा तत्पर है। 16 साल पहले जब इसका प्रकाशन शुरू हुआ था, तो हमें नहीं पता था कि आपके साथ, सहयोग व संबल की वजह से समृद्ध सामग्री के जरिए इसकी व्यापकता काफी बढ़ जाएगी एवं आपका अथाह प्यार हमें मिलेगा। मगर, आज जब देखते हैं तो, आभूषण टाइम्स के पाठकों, विज्ञापनदाताओं एवं शुभचिंतकों द्वारा इसे लगातार समृद्ध किया जा रहा है।  आज आभूषण टाइम्स का यह गौरवशाली 16 साल का सफर हमें गर्व से भर देता है तथा मन ही मन आपके प्रति श्रद्दा भाव से भर देता है। ज्वेलरी सेक्टर की पत्रिका होने के कारण हमारा दायरा बेहद सीमित है तथा केवल गोल्ड व सिल्वर तथा ज्यादा से ज्य़ादा डायमंड की बात कहने और ज्वेलर्स के हितों की बात कहने का दायरा बहुत छोटा है, लेकिन फिर भी आपने बड़े मन से हमें अपनाते हुए 17वें वर्ष की पहली पायदान तक लाने में सहयोग किया, इसके लिए हम आपके आभारी है।


वास्तव में देखा जाए, तो ज्वेलरी भले ही गोल्ड, सिल्वर या डाय़मंड जैसी महंगी वस्तु है, महर वास्तव में तो यह एक कला है, जो अपनी उत्कृष्ट उत्पादकता तथा बेशकीमती मूल्य के लिए समान रूप से जानी जाती है, उसी तरह से आभूषण टाइम्स भी कहने को तो कागज छपी हुई एक पत्रिका है,  जिसके चमकदार पन्ने, आकर्षक तस्वीरें, सुभावनी सामर्गी,  ज्वेलरी के चहेते डिजाइन और इसकी साफ - सुथरी प्रिंटिंग बाजार में जानी जाती है। मगर, वास्तव में आभूषण टाइम्स  बाजार में सूचनाओं का वह तंत्र है, जो मगातार 16 साल तक अपने अनुभवी लेखकों के रिसर्च आधारित लोगों के जरिए ज्वेलरी सेक्टर की शान बढ़ाने में कामय़ाबी का सफर है, जो 16 साल से अनवरत चलता आ रहा है। आभूषण टाइम्स अब अपने प्रकाशन के 17वें वर्ष में प्रवेश करने जा रहा है।  आपकी हसरतों की इस सबसे करीबी पत्रिका ने ज्वेलरी उद्योग और ज्वेलरी व्यापार में अपने योगदान के लिए कई पुरस्कार प्राप्त किए हैं, तो ज्वेलरी बाजार के विभिन् संगठनों की मान्यताएँ भी हासिल की हैं। हाल के वर्षों में, यानी पिछले पांच - छह वर्षों में आभूषण टाइम्स के प्रसार और पाठक संख्या दोनों में तेजी से बढ़ोतरी हुई है, तथा बाजार में इसकी ख्याति भी बढ़ी है, तो इसका कारण केवल ये है कि इसे आपके द्वारा अथाह स्नेह मिला है।


ज्वेलरी मैगज़ीन होने के कारण आभूषण टाइम्स उत्कृष्ट ज्वेलरी निर्माताओं की श्रेष्ठतम कलाकृतियों की दुनिया में सबसे अग्रणी रहने में विश्वास सदा से ही करता रहा है, इसी वजह से 16वें साल से पहले ही हमें बाजार की सर्वश्रेष्ठ व नंबर वन पत्रिका का गौरव हासील हुआ है। आभूषण टाइम्स में आश्चर्यजनक ज्वेलरी डिजाइंस, वैश्व्क मानक पर खरे उतरने वाले लेख और विशेषज्ञों के दृष्टिकोण के साथ साथ प्रत्येक विषय के लेख में बाजार की व्यापारिक हस्तिय़ों के विचार भी शामिल होते हैं, जिसकी सराहना सुनकर हम आपक सामने नतमस्तक हो जाते हैं।  विभिन्न अवसरों पर प्रकाशित होने वाले आभूषण टाइम्स के विशेष लेखों में नवीनतम आभूषण डिजाइनों, ज्वेलरी उद्योग के समाचारों, ज्वेलरी ट्रेंडेस के रुझानों और ज्वेलरी निर्माण की कला पर हम प्रकाश डालते रहे हैं। भारत में ज्वेलरी इंडस्ट्री की एक अग्रणी पत्रिका के रूप में, पिछले 16 साल में हम भारतीय ज्वेलरी उद्योग की व्यापकता को विकास देने में सहायक साबित हुए हैं, इसका हमें गर्व है। लगातार 16 साल के हो रहे आभूषण टाइम्स के प्रकाशन पर हम गर्व महसूस करते हैं, तथा कृतज्ञ भाव से आपके सहयोग का अभिनंदन करते हैं। आभूषण टाइम्स भारत की समृद्ध ज्वेलरी की विरासत, उसके पारंपरिक शिल्प कौशल और उसमें किए जाने वाले आधुनिक नवाचारों की खोज से भारतीय ज्वेलरी परिदृश्य को सृंद्ध करता रहा हैं। बाजार में तेजी से आगे बढ़ते नए ज्वेलर्स को हर संभव सहयोग, उभरते युवा व्यवसायियों को प्रोत्साहन, तथा डिजाइनरों की कला के लिए आयाम देने में सहयोग करते हुए आभूषण टाइम्स सर्वश्रेष्ठ तरीके से भारतीय ज्वेलरी मार्केट का पथ प्रदर्शन करने में सफल रहा है। आभूषण टाइम्स अपने लगातार प्रकाशन के 16वें साल तक का सफर पूरा करने के बाद अब 17वें साल के दरवाजे पर खड़ा है, जहां से हमें कई और लए मुकाम हासिल करने हैं, आपकी नई उड़ान को नए पंख देने हैं तथा आने वाले समय में ज्वेलरी का जो बाजार वर्तमान के मुकाबले बहुत ही जल्दी चार गुना होने जा रहा है, उसके साथ साथ हमें चलते रहना है।


आभूषण टाइम्स लगातार 16 साल से ज्वेलरी उद्योग के दिग्गजों की पंसदीदा मैगजीन रही है और इस के हर अंक में ज्वेलरी के बाजार, ट्रेड इंडस्ट्री तथा ज्वेलर्स तथा बुलियन व्यापारियों के बारे में ज्ञान का खजाना हर बार मिलता रहा है। पिछले 16 साल से आपने अपने समर्थन से आभूषण टाइम्स को भारत में सबसे आसान तरीके से नंबर वन मैगजीन बनाया और इसे 17वें वर्ष में ले कर जा रहे है, अत: हम आपके आभारी हैं। आभूषण टाइम्स के 16 साल के सफर की सबसे खास बात यह रही कि नियमित रूप से हमारी पत्रिका लगातार प्रकाशित होती रही। ज्वेलरी की लगातार विकसित हो रही दुनिया से हम खुद तो जुड़े रहे ही, सबको जोड़े रहे। हमारी सदा कोसिश रही कि आभूषण टाइम्स के माध्यम से हर अंक में कुछ न कुछ  विशेष सामग्री आप तक तक पहुंचें, और आप ज्वेलरी इंडस्ट्री में नवीनतम डिजाइन और नए नए कलेक्शन की खोज के गवाह बनें। हम जानते हैं कि आभूषण टाइम्स की आपकी प्रेरणा और जानकारी का तथ्यात्मक स्रोत है।


हम 16 साल से आपकी सेवा में है, तथा इसके माध्यम से ज्वेलरी उद्योग से जुड़े हुए हैं, तो इसका एक खास कारण ये भी रहा कि आपने भी हमारी इस पत्रिका में प्रकाशिथ सामर्गी को बड़े ही चाव से पढ़ा तथा इसकी प्रशंसा की।  आज हम गर्व के साथ कह सकते हैं कि एक प्रमुख ज्वेलरी मैगज़ीन के रूप में ज्वेलर्स की दुनिया के लिए आभूषण टाइम्स आपके साथी के रूप में आपका मार्गदर्शन करता रहा है। आज ही आपकी इस पत्रिका का 16वां साल पूरा हुआ है तथा 17वें वर्ष में प्रवेश हो रहा है, तो आपसे आग्रह है कि ज्वेलरी बिजनेस के प्रति अपने स्नेह को और नई ऊंचाई तक ले जाएं, तथा साथ ही आभूषण टाइम्स को भी सदा साथ रखे, ताकि जैसे हमारा 16 साल का सफर आसान हुआ उसी तरह से आने वाले कई वर्षं तक हम आपके साथी बने रहें।



For more Updates Do follow us on Social Media

Facebook Page-https://www.facebook.com/aabhushantimes

Instagram Page-https://www.instagram.com/aabhushantimes

Comments


Top Stories

bottom of page